Medieval History one Liner मध्यकालीन भारत का इतिहास 1 Now

Medieval History one Liner मध्यकालीन भारत का इतिहास 1 Now

Hello Students,

Today we are sharing an important pdf in hindi Medieval History one Liner मध्यकालीन भारत का इतिहास 1 Now देश में हर रोज रेलवे, बैंक, पुलिस, आर्मी आदि विभिन्न क्षेत्रों में सरकारी नौकरियां निकलती रहती हैं। जिसके लिए लाखों लोग आवेदन करते हैं और परीक्षा के लिए तैयारी करते हैं और परीक्षा भी देते हैं। लेकिन कुछ लोग ही ऐसे होतें हैं जो परीक्षा को पास कर लेते हैं और जिनका सरकारी नौकरी के लिए सिलेक्शन हो पाता है। बहुत से लोगों को सरकारी नहींं मिल पाती जिसकी वजह से वो निराश हो जाते हैं। जिन लोगों को सरकारी नौकरी नहीं मिल पाती उसके कई कारण हो सकते हैं। जिनमें से एक कारण यह भी होता है कि उन्होंने या तो मेहनत नहीं कि या फिर उनके ज्ञान में कहीं न कहीं कमी रह गई।

Medieval History one Liner मध्यकालीन भारत का इतिहास 1 Now सरकारी नौकरी पाने के लिए और परीक्षा में पास होने के लिए सबसे जरूरी होता है अपने सामान्य ज्ञान के स्तर को बढ़ाना। सरकारी नौकरी के लिए परीक्षा में पूछे गए सभी विषयों में से Medieval History one Liner (मध्यकालीन भारत) एक ऐसा विषय है जो परीक्षा में उम्मीदवार को गिरा भी सकता है और उठा भी सकता है। अगर आप दूसरों से आगे निकलना चाहते हैं तो जरुरी है कि आप Medieval History one Liner (मध्यकालीन भारत) के विषय पर अच्छी पकड़ रखें ।

 

Medieval History one Liner मध्यकालीन भारत का इतिहास 1 Now मध्यकालीन भारत का इतिहास अगर आप सिविल सर्विस परीक्षा Upsc , Pcs या अन्य किसी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे है और शार्ट में Ncert Medieval history notes आप ढूंढ रहे है तो Ncert Medieval Indian history One Liner Question Pdf in Hindi : मध्यकालीन भारत का इतिहास आज हम आपके लिए मध्यकालीन भारत इतिहास बुक डाउनलोड लेकर आये है वैसे तो Madhyakalin bharat ka itihas in hindi बहुत बड़ा है लेकिन हम आपके लिए शार्ट में Indian History one liner question pdf लेकर आये है जिसे पढ़कर आपको बहुत सहायता मिलेंगे इसे आप पीडीऍफ़ के रूप में निःशुल्क डाउनलोड कर सकते है

 

      प्राचीन भारत का इतिहास 

  • पाषाण काल
  • सैंधव सभ्यता एवं संस्कृति
  • वैदिक काल
  • बौद्ध धर्म
  • जैन धर्म
  • यूनानी आक्रमण
  • मौर्य साम्राज्य
  • मर्योत्तर काल
  • गुप्त एवं गुप्तोत्तर युग
  • प्राचीन भारत में स्थापत्य कला
  • प्राचीन साहित्य एवं साहित्यकार

      Post Related Links

 

Medieval History one Liner

  1. गुलाम वंश की स्थापना 1206 ईस्वी में कुतुबुद्दीन ऐबक के द्वारा किया गया था।
  2. कुतुब मीनार की नीव कुतुबुद्दीन ऐबक ने डाली थी।
  3. इल्तुतमिश ने क़ुतुब मीनार को पूरा बनवाया था।
  4. अड़ाई दिन का झोपड़ा अजमेर में स्थित है जिसको कुतुबुद्दीन ऐबक ने बनवाया था ।
  5. कुतुबुद्दीन ऐबक, लाख बख्श के नाम से प्रसिद्ध थे ।
  6. दिल्ली सल्तनत की प्रथम मुस्लिम महिला शासक रजिया सुल्तान थी , जो इल्तुतमिश की पुत्री थी ।
  7. नालंदा विश्वविद्यालय को ध्वस्त करने वाला बख्तियार खिलजी था ।
  8. इल्तुतमिश की राजधानी लाहौर थी जिसको बाद में स्थानांतरित करके दिल्ली कर दिया था ।
  9. दिल्ली सल्तनत का वास्तविक संस्थापक इल्तुतमिश को माना जाता है ।
  10. कुतुब मीनार का निर्माण ख्वाजा बख्तियार काकी की स्मृति में किया गया था ।
  11. शुद्ध अरबी सिक्के चलाने वाला पहला सुल्तान इल्तुतमिश था ।
  12. लौह एवं रक्त नीति का पालन बलबन ने किया था ।
  13. खिलजी वंश का संस्थापक जलालुद्दीन खिलजी था ।
  14. स्वयं को खलीफा घोषित करने वाला दिल्ली सल्तनत का पहला सुल्तान मुबारक खिलजी था ।
  15. तुगलक वंश का संस्थापक गयासुद्दीन तुगलक था ।
  16. मोहम्मद बिन तुगलक को पागल बादशाह एवं रक्त पिपासु कहा जाता है ।
  17. मोहम्मद बिन तुगलक के समय अफ्रीकी यात्री इब्नबतूता भारत आया था ।
  18. विजयनगर साम्राज्य की स्थापना हरिहर एवं बुक्का ने 1336 में किया था ।
  19. ब्राह्मणों पर जजिया कर लगाने वाला पहला मुस्लिम मुस्लिम शासक फिरोज तुगलक था ।
  20. तुगलक वंश का अंतिम सुल्तान नसीरुद्दीन महमूद था ।
  21. सैयद वंश का संस्थापक खिज्र खाँ था ।
  22. सर्वप्रथम शाह की उपाधि धारण करने वाला शासक मुबारक खां था ।
  23. सैयद वंश का अंतिम सुल्तान अलाउद्दीन आलम शाह था ।
  24. लोदी वंश का संस्थापक बहलोल लोदी था ।
  25. दिल्ली पर प्रथम अफगान राज्य स्थापित करने का श्रेय बहलोल लोदी को जाता है ।
  26. आगरा शहर की स्थापना सिकंदर लोदी ने 1540 की थी ।
  27. विजयनगर की राजधानी हम्पी थी ।
  28. पानीपत का प्रथम युद्ध अब्राहम लोदी और बाबर के बीच 21 अप्रैल 1526 में हुआ था। (जिसमें बाबर विजई हुआ)
  29. दिल्ली सल्तनत की राजकीय भाषा फारसी थी ।
  30. तेनालीराम कृष्णदेव राय के दरबारी कवि थे ।
  31. अमीर खुसरो के गुरू निजामुद्दीन औलिया थे ।
  32. इटली यात्री निकोलोकांटी विजयनगर की यात्रा पर देवराय प्रथम के शासनकाल में आए थे ।
  33. कृष्णदेव राय के दरबार में अष्ट दिग्गज थे जो तेलुगु साहित्य के 8 सर्वश्रेष्ठ कवियों का समूह था ।
  34. कृष्णदेव राय ने हजारा एवं विट्ठलनाथ स्वामी मंदिर का निर्माण करवाया था ।
  35. तालीकोटा का युद्ध हुआ था 1565 में हुआ था ।
  36. बहमनी राज्य का संस्थापक अलाउद्दीन बहमन शाह था ।
  37. बहमनी राज्य की राजधानी गुलबर्गा थी ।
  38. जामा मस्जिद का निर्माण हुसैनशाह शर्की के द्वारा किया गया था ।
  39. महाभारत एवं राज तरंगिणी का फारसी में अनुवाद जैन उल आब्दीन ने करवाया था ।
  40. 17 अप्रैल 1527 में खानवा का युद्ध राणा सांगा और बाबर के बीच हुआ था जिसमें बाबर विजई रहा ।
  41. 1576 ईस्वी में हल्दीघाटी का युद्ध हुआ था।
  42. हल्दीघाटी का युद्ध राणा प्रताप एवं अकबर के बीच हुआ था ।(जिसमें अकबर विजई हुआ)
  43. मेवाड़ की राजधानी चित्तौड़गढ़ थी ।
  44. गुरु नानक का जन्म 1469 में पंजाब के तलवंडी नामक स्थान पर हुआ था ।
  45. चैतन्य स्वामी का जन्म 1486 में बंगाल के नदिया में हुआ था ।
  46. मुगल वंश का संस्थापक बाबर था ।
  47. भारत में बाबर का अंतिम युद्ध अफ़गानों एवं बाबर के बीच 1529 ईस्वी में हुआ था जिसे घाघरा का युद्ध कहते हैं ।
  48. पानीपत के प्रथम युद्ध में बाबर ने पहली बार तोप खाने का प्रयोग किया था ।
  49. खानवा के युद्ध में बाबर ने गाजी की उपाधि धारण की थी ।
  50. बाबरनामा बाबर की आत्मकथा है जिसे बाबर ने स्वयं लिखा था ।
  51. बाबरनामा का फारसी भाषा में अनुवाद अब्दुल रहीम खानखाना ने किया था।
  52. 25 जून 1539 में चौसा का युद्ध शेरशाह एवं हिमायूं के बीच हुआ था ।
  53. हिमायू ने सप्ताह के सातों दिन सात रंग के कपड़े पहनने के नियम बनाए थे ।
  54. शेरशाह का मकबरा सासाराम बिहार में स्थित है ।
  55. ग्रांड ट्रंक रोड का निर्माण से शेरशाह ने करवाया था ।
  56. अकबर का संरक्षक बैरम खां था ।
  57. पानीपत की दूसरी लड़ाई 5 नवंबर 1556 ईस्वी में अकबर एवं हेमू के बीच हुई थी ।
  58. बैरम खान की हत्या मुबारक खा की थी ।
  59. अकबर के सेनापति का नाम मानसिंह था ।
  60. फतेहपुर सीकरी का निर्माण अकबर ने कराया था ।
  1. अकबर ने दास प्रथा , जजिया कर तीर्थ यात्रा कर किया था ।
  2. अकबर का राजस्व मंत्री टोडरमल था ।
  3. दीन ए इलाही तथा इलाही संवत की शुरुआत अकबर ने की थी ।
  4. अकबर के दरबार में प्रसिद्ध संगीतकार तानसेन थे ।
  5. अकबर के दरबार में राजकवि फैजी थे ।
  6. अकबरनामा ग्रंथ की रचना अबुल फजल ने की थी ।
  7. अकबर के शासन प्रणाली की सबसे प्रमुख विशेषता मनसबदारी प्रथा थी ।
  8. अकबर को सिकंदरा के निकट दफनाया गया था ।
  9. संगीत सम्राट तानसेन का जन्म ग्वालियर में हुआ था ।
  10. दीन ए इलाही धर्म अपनाने वाला प्रथम एवं अंतिम हिंदू बीरबल था ।
  11. मुगलों की राजकीय भाषा फारसी थी ।
  12. अकबर ने बुलंद दरवाजा का निर्माण करवाया था ।
  13. अकबर का दरबार नवरत्न से सुशोभित था ।
  14. अकबर के काल को हिंदी साहित्य के स्वर्ण काल कहा जाता है ।
  15. जहां जहांगीर को न्याय की जंजीर के लिए याद किया जाता है ।
  16. सिखों के पांचवें गुरु अर्जुन देव को फांसी जहांगीर ने दिलवाई थी ।
  17. जहांगीर के शासनकाल को चित्रकला का स्वर्ण काल कहा जाता है ।
  18. शाहजहां के शासनकाल को स्थापत्य कला का स्वर्ण युग कहा जाता है ।
  19. दिल्ली के लाल किला, जामा मस्जिद तथा मयूर सिंहासन का निर्माण शाहजहां ने करवाया था।
  20. औरंगजेब को जिंदा पीर कहा जाता था ।
  21. सिखों के नौवें गुरु तेग बहादुर की हत्या औरंगजेब ने करवाई थी ।
  22. औरंगजेब ने 1699 ईस्वी में हिंदू मंदिरों को तोड़ने का आदेश दिया था ।
  23. राजा जयसिंह एवं शिवाजी के बीच पुरंदर की संधि 1665 में हुई थी ।
  24. औरंगजेब ने जजिया कर को पुनः लागू किया था ।
  25. औरंगजेब ने औरंगाबाद में बीवी का मकबरा बनवाया था ।
  26. बीवी के मकबरा को ताजमहल की फ़ूहड नकल कहा जाता है ।
  27. औरंगजेब को दौलताबाद में दफनाया गया था ।
  1. मराठा साम्राज्य के संस्थापक शिवाजी थे ।
  2. शिवाजी के पिता का नाम शाहजी भोंसले एवं माता का नाम जीजाबाई था ।
  3. शिवाजी के गुरु एवं संरक्षक दादाजी कोंडदेव थे ।
  4. शिवाजी ने रायगढ़ को अपनी राजधानी बनाई थी ।
  5. शिवा के मंत्रिमंडल में सबसे महत्वपूर्ण पद पेशवा (प्रधानमंत्री) का था ।
  6. रैयतवाड़ी प्रथा का प्रारम्भ शिवाजी ने किया था ।
  7. दिल्ली पर आक्रमण करने वाला पहला पेशवा बाजीराव प्रथम था ।
  8. अंतिम मुगल शासक बहादुर शाह जफर द्वितीय था ।
  9. मोहम्मद शाह को रंगीला बादशाह कहा जाता था ।
  10. वाजिद अली शाह अवध का अंतिम नवाब था ।
  11. लखनऊ के पहले अवध की राजधानी फैजाबाद थी ।
  12. औरंगजेब ने शिवाजी को राजा की उपाधि दी थी ।
  13. पानीपत का तीसरा युद्ध 1761 ईस्वी में अहमदशाह अब्दाली और मराठों के बीच हुआ था जिसमें मराठा को हार का सामना करना पड़ा ।
  14. नादिरशाह को ईरान का नेपोलियन कहा जाता है ।
  15. तानसेन के गुरु का नाम बाबा हरिदास था ।
  16. बाबर का मकबरा काबुल (अफगानिस्तान) में स्थित है।

     Download pdf

DOWNLOAD MORE PDF

Maths Notes CLICK HERE
English Notes CLICK HERE
Reasoning Notes CLICK HERE
Indian Polity Notes CLICK HERE
General Knowledge CLICK HERE
General Science Notes
CLICK HERE

 

MyNotesAdda.com will update many more new pdf and study materials and exam updates, keep Visiting and share our post, So more people will get this.

This PDF is not related to MyNotesAyojanadda and if you have any objection over this pdf , you can mail us at zooppr@gmail.com

Please Support us By Joining the Below Groups And Like Our Pages We Will be very thankful to you.

Facebook Group :- https://www.facebook.com/mynotesadda

 

Tags:- मध्यकालीन भारत का इतिहास One Liner,गत मध्यकालीन भारत 1200 1526 ईसवी,भारत में मध्यकाल का आरंभ कब से माना जाता है

Comments are closed.