UPSC टॉपर Kanishak Kataria ने माता-पिता और गर्लफ्रेंड को भी दिया अपनी सफलता का श्रेय

[sc name="ncert-post"]

UPSC Civil Services में टॉप करने वाले कनिष्क कटारिया ने अपने माता-पिता, बहन और प्रेमिका को अपनी सफलता का श्रेय दिया है. उन्होंने कहा – लोग मुझसे एक अच्छा प्रशासक बनने की उम्मीद करेंगे और यही मेरा इरादा है.

UPSC सिविल परीक्षा में कनिष्क कटारिया (Kanishak Kataria) ने टॉप किया है. ANI से बातचीत में कनिष्क कटारिया ने कहा कि यह बहुत ही आश्चर्यजनक क्षण है. मुझे उम्मीद नहीं थी कि मैं पहली रैंक हासिल करूंगा. मैं अपने माता-पिता, बहन और प्रेमिका को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने मुझे नैतिक समर्थन दिया. लोग मुझसे एक अच्छा प्रशासक बनने की उम्मीद करेंगे और यही मेरा इरादा है. कनिष्क कटारिया ने वैकल्पिक विषय के रूप में गणित के साथ परीक्षा उत्तीर्ण की. उन्होंने कंप्यूटर साइंस में बीटेक किया है.

कनिष्क ने कहा, बीटेक करने के बाद मैंने ढाई साल जॉब की। एक साल बैंगलोर में काम किया। विदेश में भी मैंने जॉब की। सिविल सेवा परीक्षा में मैं इसलिए आया क्योंकि मुझे सैटिफैक्शन चाहिए था। पहले की जॉब में मुझे अच्छा पैकेज तो मिल रहा था लेकिन जॉब सैटिसफैक्शन नहीं। इस बारे में मैंने अपने पिता से भी बात की। वह भी सिविल सेवा से जुड़ी सर्विसेज में हैं। कनिष्क ने अपने परिवार के सदस्यों के अलावा अपनी गर्लफ्रेंड का भी शुक्रिया अदा किया। उन्होंने कहा कि मेरी गर्लफ्रेंड सोनल चौहान ने तैयारी में मेरी काफी मदद की।

पहले स्थान पर कनिष्क कटारिया के बाद दूसरे स्थान पर अक्षत जैन हैं. आईआरएस की ट्रेनिंग ले रहे जुनैद अहमद ने देश भर में तीसरा रैंक हासिल किया है. वहीं पांचवे स्थान पर रहीं सृष्टि जयंत देशमुख देशभर की महिलाओं में पहले नंबर पर हैं.

सिविल सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा, 2018 तीन जून 2018 को हुई थी। इस परीक्षा में 10,65,552 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था जिनमें से 4,93,972 लोगों ने भाग लिया। सितंबर-अक्टूबर 2018 में हुई लिखित (मुख्य) परीक्षा में भाग लेने के लिए कुल 10,468 अभ्यर्थी उत्तीर्ण हुए। फरवरी-मार्च 2019 में हुए पर्सनैलिटी टेस्ट के लिए कुल 1994 अभ्यर्थियों ने सफलता प्राप्त की।

यूपीएससी के शीर्ष 25 अभ्यर्थियों में 15 पुरुष और 10 महिलाएं हैं। इस परीक्षा में दूसरे स्थान पर आए अक्षत जैन ने आईआईटी गुवाहाटी से इंजिनियरिंग की है। उन्होंने कहा कि वह समाजसेवा के लिए सिविल सेवा परीक्षा में शामिल हुए। जयपुर के रहने वाले अक्षत के पिता आईपीएस और मां भारतीय राजस्व सेवा की अधिकारी हैं।.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *