fbpx

Indian Polity Questions and Answers PDF Download

0

Indian Polity Questions and Answers PDF

Download

Indian Polity Questions and Answers PDF Download:- Indian Polity Questions and Answers PDF Download very helps full for the comparative exams. we provide the latest and most useful polity Notes and much more content and post which are related to the Indian Polity topic. If you want to watch more relevant content and topic of this post and topics then you can visit your pages and websites.

 

you can find chances to inquire again in competitive assessments, so keep training. these concerns are to your practice. to understand complete questions response of Indian polity notes, quiz questions and answer Indian polity pdf queries, and replies, current Indian polity pdf, Indian polity question & answer, Indian polity notes in Hindi, overall awareness, Indian polity topic, questions with responses in quiz form, from Hindi you may go here.

 

संसद

  1. राज्यसभा में होते हैं — 250 सदस्य, जिनमें से 2 सदस्य भारत के राष्ट्रपति द्वारा मनोनीत किए जाते हैं
  2. राज्यसभा में राज्यों को प्रतिनिधित्व दिया जाता है – उनकी जनसंख्या के अनुपात में स्थान के आघार पर
  3. राज्यसभा के सदस्य चुने जाते हैं– राज्यों की विधान सभाओं के निर्वाचित सदस्यों द्वारा
  4. राज्यसभा के सदस्य का कार्यकाल होता है – 6 वर्ष का
  5. राज्यसभा को स्थायी सदन कहते हैं, क्योंकि— इसे विघटित नहीं किया जा सकता है
  6. हमारे संविधान के अनुसार, राज्यसभा का कार्यकाल – समाप्त होने का विषय नहीं है।
  7. प्रथम अभिनेत्री जो राज्यसभा के लिए नामांकित की गई – नरगिस दत्त
  8. राज्यसभा के संदर्भ में कथन सही है — इसके एक-तिहाई सदस्य प्रति दो वर्ष में अवकाश प्राप्त करते हैं
  9. राज्यसभा की एकाँतिक शक्ति के अंतर्गत आता है – नई अखिल भारतीय सेवाओं का सृजन
  10. राज्य सूची के विषय के संबंध में विधि बनाने की संसद की शक्ति के बारे में सही है-  राज्यसभा को घोषित करना होगा कि ऐसा करना राष्ट्रीय हित में है।, राज्यसभा को उपस्थित और मत देने वाले सदस्यों में से कम से कम दो-तिहाई सदस्यों द्वारा सर्मार्थित संकल्प पारित करना होगा। ऐसी विधि संपूर्ण भारत या उसके किसी भाग के लिए बनाई जा सकती है।
  11. राष्ट्रहित में भारत की संसद राज्य सूची के किसी भी विषय पर विधिक शक्ति प्रात कर लेती है, यदि इसके लिए एक संकल्प— राज्यसभा द्वारा अपने उपस्थित एवं मत देने वाले सदस्यों के कम-से-कम दो-तिहाई बहुमत से पारित कर लिया जाए
  12. वह विशेषाधिकार जो भा भारत के संविधान द्वारा राज्यसभा को प्रदत्त किए जाते हैं – संसद को, राज्य सूची में नियम बनाने और एक अथवा एकाधिक अखिल भारतीय सेवाओं का सृजन करने हेतु सशक्त बनाने के लिए एक प्रस्ताव पारित करना
  13. संसद क्रो राज्य सूची के विषय के सम्बन्ध में विधि बनाने की शक्ति प्रदान करते है – अनुच्छेद 249
  14. भारत के संविधान की चौथी अनुसूची को सही-सही वर्णित करता है – इसमें राज्यसभा में स्थानों का आवंटन है
  15. राज्यसभा  का अध्यक्ष — उपराष्ट्रपति पदेन अध्यक्ष होता है।
  16. राज्यसभा के वर्तमान सभापति हैं – बेंकैया नायडू
  17. राज्यसभा की निश्चित सदस्य संख्या है – 250
  18. राज्यसभा किसी घन विधेयक में सारमूत संशोधन करती है, तो तत्पश्चात होगा – लोकसभा, राज्यसभा की अनुशंसाओं को स्वीकार करे या अस्वीकार करे, इस विधेयक पर आगे कार्यवाही कर सकती है
  19. राज्यसभा  का सदस्य होते हुए मी लोकसभा की कार्यवाही में भाग ले सकता है – मंत्री जो राज्यसभा का सदस्य हो





संसद 2

  1. एक वर्ष में कम से कम संसद की बैठक छेना आवश्यक है – दो बार
  2. संसद के दो सत्रों के बीच अधिकाधिक अंतराल होना चाहिए– छः महीने का
  3. भारतीय संसद बनती है — लोकसभा, राज्यसभा और राष्ट्रपति से
  4. संसद का अनन्य भाग नहीं है — उपराष्ट्रपति
  5. संसद के अधिकारियों में सम्मिलित हैं-, अध्यक्ष, लोकसभा, उपाध्यक्ष, लोकसभा, महासचिव लोकसभा, अध्यक्ष, राज्यसभा
  6. संसद् / विधान सभा के किसी सदस्य की सदस्यता तब समाप्त समझी जाती है, जब वह बिना सदन को सूचित किए अनुपस्थित रहता है – 60 दिन
  7. सर्वाप्रथम एक सांसद|विधायक को इस उघार पर सदस्यता से अयोग्य घोषित किया गया कि वह सदन की अनुमति के बिना उसकी साठ लगातार बैठकों में अनुपस्थित रहा — राज्यसभा का
  8. संसद के सदस्यों के विशेषाधिकारों तथा उन्मुक्तियों को निर्धारित करता है – अनुच्छेद 105
  9. किसी मंत्री के विरुद्ध विशेषाधिकार प्रस्ताव उठाया जा सकता है, जब बह — किसी मामले के तथ्यों को रोकता है या तथ्यों का बिगड़ा हुआ वर्णन देता है।
  10. लोक सभा और राज्य सभा दोनों के निर्वाचनों में मतदान का अधिकार है – राज्य विघानमंडल के निम्न सदन के निर्वाचित सदस्यों को
  11. संघीय संसद राज्य सूचि के विषय पर भी कानून बना सकती है -. अंतर्राष्ट्रीय समझौतों को प्रभारी बनाने हेतु , संबंधित राज्य की सहमति रेड, राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू रहने की अवस्था में।, राष्ट्रीय हित में जब राज्यसभा दो तिहाई बहुमत से इस हेतु प्रस्ताव पारित करे।
  12. भारतीय संसद राज्य सूची के विषयों पर विधायन नहीं कर सकती, जब तक – राज्यसभा प्रस्ताव पारित करे कि ऐसा करना राष्ट्रीय हित में आवश्यक है, राष्ट्रीय आपातकाल लागू हो॥
  13. अंतर्राष्ट्रीय सिंधियों को भारत के किसी माग अथवा संपूर्ण भारत में लागू करने के लिए संसद कोई भी कानून बना सकती है – बिना किसी राज्य की सहमति से
  14. संविधान की विषय सूचियों में दिए गए विषयों के अतिरिक्त विषयों पर कानून बना सकता है – संसद
  15. घन विधेयक को अंगीकार करा लेगी जो एक बार लोकसभा द्वारा पारित किया जा चूका हो, किंतु राज्यसभा द्वारा संशोधित किया गया हो, वह क्रियाविधि है — यह पारित समझा जाएगा यदि लोकसभा इसे दोबारा संशोधन को स्वीकार अधवा अस्वीकार करते हुए पास कर दे
  16. सदन का उध्यक्ष, सदन के किती भी सदस्य को बोलने से रोक सकता है और अन्य किसी सदस्य को बोलने दे सकता है। यह घटना कहलाती है- – बैठ जाना
  17. ‘शुन्यकाल ‘ संसदीय व्यवस्था की देन है – भारत की
  18. लोकसभा  में ‘शून्यकाल’ की अवधि अधिक से अधिक हो सकती है – एक घंटा
  19. संसद में शून्यक्राल का समय है – दोपहर 2 बजे से अपराद्न  1.00 बजे तक
  20. राजनीतिक शब्दावली में शून्यकाल का अर्थ है– – प्रश्न-उत्तर सत्र
  21. अंतरराष्ट्रीय समझौतों को प्रभावी बनाने हेतु संसद राज्य सूचि के विषय पर कानून बना सकती है- – अनु. 253 के अंतर्गत
  22. लोकसभा द्वारा पारित घन-विधेयक राज्यसभा द्वारा भी पारित मान लिया जाएगा, यदि राज्यसभा द्वारा उस पर कोई कार्यवाही नहीं की जाती — 14 दिनों तक
  23. राज्यसभा को ‘घन विधेयक’ प्राप्त होने के बाद इसे लोकसभा को वापस किया जाना चाहिए – 14 दिनों के अंदर
  24. जब संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक में कोर्ई विधेयक निर्दिष्ट (सफर) किया जाता है, तो इसे पारित किया जाना होता है – उपस्थित तथा गत देने वाले सदस्यों करा साधारण बहुमत द्वारा
  25. संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक की अध्यक्षता करेगा – लोकसभा का अध्यक्ष (स्पीकर)
  26. संसद के दोनों सदनों का संयुक्त अधिवेशन आयोजित होता है –एक ऐसे विधेयक पर विचार करने और उसे पारित करने के लिए जिस पर दोनों सदनों में मतभेद हे
  27. भारतीय संसद के दोनों सदनों की प्रथम संयुक्त बैठक हुई थी– दहेज उन्मूलन विधेयक के संबंध में
  28. लोकसभा और राज्यसभा के बीच गतिरोधे की स्थिति में संसद की संयुक्त बैठक बुलाई जाती है — साघारण विधि-निर्मण को पारित करने की स्थिति में
  29. कोई कानूनी विधेयक रखा जा सकता है – दोनों में से संसद के एक पटल पर
  30. भारत की संधित निधि एर भरित नहीं है – भारत के प्रधानमंत्री के वेतन और भत्ते
  31. भारत की संचित निधि से लिया जाने वाला अनिवार्य व्यय भार नहीं है – भारत के निर्वाचन आयेग के सदस्यों के वेतन और पेंशन
  32. भारत की संचित निधि एर भरित नहीं है — भारत के उषराष्ट्रपति का वेतन तथा भत्ते
  33. भारत की संचित निधि से निधि निकालने के लिए अनुमोदन अनिवार्य है – भारत की संसद
  34. आकस्मिकता निधि को राष्ट्रपति व्यय कर सकते हैं – संसदीय स्वीकृति से पूर्व
  35. करों और सरकारी कामकाज के निर्वह में हुई अन्य प्राप्तियों से संघीय सरकार को प्रात्त हुआ समूचा राजस्व जमा होता है – भारत की संचित निधि में
  36. संविधान के घन व्वियक को परिगध्ित किया गया है – अनुच्छेद 0 के अंतर्गत
  37. कोई विधेयक ‘घन विधेयक ” है या नहीं इसका निर्णय करता है +- लोकसमा अत्यक्ष
  38. घन विधेयक के बारे में सही है- – लोकसमा अध्यक्ष यह निर्णय करने के लिए अंतिम प्राधिकारी है कि
  39. कोई बिल घन विधेयक है या नहीं, लोकसत्रा द्वारा पारित किसी धन विधेयक का राज्यसभा द्वारा 14 दिनों के अंदर लौटाया जाना और विचारार्थ भेजा जाना आवश्यक है, राष्ट्रपति किसी घन विधेवक को लोकसमा में पु्नार्वचार के लिए नहीं लौटा सकता।
  40. वे विषय जिन्हें घन विधेयक के उपबंध में सम्मिलित किया गया है –कर से संबंधित उपबंध, उधार (ऋष ) लेने से संबंधित उपबंध, संचित निधि तथा आकर्मिकता की अभिरक्षा से संबंधित उपबंध
  41. कोई विधेयक जिसमें केवल व्यय अंतर्वलित है और अनुच्छेद 110 में विनिर्दिष्ट कोई विषय उसमें सम्मिलित नहीं है,  उसे — संसद के किसी भी सदन में प्रारंभ किया जा सकता है।
  42. बजट पर संसद के नियंत्रण के विषय में सही है—- बजट के रिर्माण में संसद का कोई हाथ नहीं होता, संसद को
  43. राष्ट्रपति की सिफारिश के बिना कोई कर आरोपित करने की शक्ति प्राप्त नहीं है, संसद को राष्ट्रपति की सिफारिश के बिना किसी कर में वृद्धि करने की शक्ति प्राप्त नहीं है


Download More PDF
  1. Indian polity || Indian polity Hindi || Indian polity notes
  2. Indian Polity Notes in Hindi
  3. Indian Polity || Indian Polity Hindi || Indian Polity Notes
  4. Indian Polity PDF
  5. Short notes on Indian Polity and Constitution
  6. Short Notes on Indian Polity for Last Time Exam Preparation -IAS/RAS, State PCS, and All Civil…
  7. Indian Polity by M Laxmikant in Hindi Free PDF Download
  8. Polity Notes In Hindi PDF (Indian Polity & Constitution Objective Question-Answer)


we also provide some related topic which belongs to these topics. These topics are is Indian polity PDF, Indian polity Questions, Indian polity pdf Notes Hindi, Indian polity topic, Indian polity in notes, Indian polity handwritten in Hindi, Indian polity in Hindi, Indian polity book and you can search more related topics and post on our web-pages and websites.

let the practice from these types of Indian polity in Hindi queries and answers for govt exams. Indian polity in Hindi is extremely vital for assessment. Indian polity Hindi is the most significant part of crack government examinations. 

MyNotesAdda.com will update many more new PDFs and study materials and exam updates, keep Visiting and share our post, So more people will get this. This PDF is not related to MyNotesAdda and if you have any objection over this PDF, you can mail us at [email protected]

Tag:-notes on Indian polity PDF, Indian polity notes, Indian polity PDF notes, Indian polity PDF in Hindi,  Indian polity objective questions and answers in Hindi PDF, Indian polity in Hindi, Indian polity questions and answers PDF download, polity Notes in Hindi,  questions with answers In Hindi, current Indian polity PDF

Leave a Reply

Please Login to comment
  Subscribe  
Notify of
error: Content is protected !!