Modern History of India

Modern History of India

Hello friends, Today we are sharing a very important and easy PDF of Modern History of India. We have also included some of the most important questions related to Modern History PDF in the PDF for your better preparation for all the government exams(U.P.P, UPSI,UPTGT, PGT,UPTET/CTET, HTET, RTET, UDA/LDA, RO/ARO, BEd, LLB, RRB, सचिवालय, अस्सिस्टेंट ग्रेड, ग्राम पंचयत अधिकारी, स्टेनोग्राफर, लेखा परीक्षक, हिनीद अनुवादक परीक्षा, डिप्टी जेलर, बैंक परीक्षा ,एल आई सी, लेखपाल इत्यादि ). If you are preparing for your exams in the last few days then this Modern History Notes is very important for you.

 

 

There are around 20-25 questions in each Government Exams related to Modern History of India and you can solve 18-20 questions out of them very easily by reading these Notes of Modern History Notes. The complete PDF of History Notes is attached below for your reference, which you can download by clicking at the Download Button.

If you have any doubt or suggestion regarding the PDF then you can tell us in the Comment Section given below, we will be happy to help you. We wish you a better future.

 

Topics Included in the PDF

  • ब्रिटिश शासन का विरोध
  • १८५७ का विद्रोह
  • भारतीय स्वतंत्रता संग्राम(प्रथम चरण)
  • भारत में प्रतिनिधि सरकार
  • प्रथम विश्व युद्ध से गोलमेज़ सम्मलेन तक
  • भारतीय शासन अधिनियम(1919)
  • भारत सरकार अधिनियम(1935)
  • राष्ट्रिय आंदोलन में अन्य विचारधाराए
  • द्वितीय विश्वयुद्ध से स्वंतंत्रता प्राप्ति तक
  • भारतीय राष्ट्रिय राजनीती में अलगाववादी प्रवर्तियाँ
  • भारत की स्वंतंत्रता से १९६४ तक
  • परिशिष्ट ‘क’
  • परिशिष्ट ‘ख’
  • तिथिक्रम





Following is a detailed discussion about the topics that are included in the given PDF:-

  1. ब्रिटिश शासन का विरोध:- विदेशी शासन के खिलाफ भारत के परंपरागत संघर्ष की सबसे नाटकीय परिणीति 1857 के विद्रोह के रूप में हुई, परन्तु यह कोई आकस्मिक घटना नहीं थी | भारतीय अर्थव्यवस्था और समाज के औपनिवेशीकरण तथा उसको दबाए रखने की लम्बी प्रक्रिया ने हर स्टार पे भारतीय समाज में असंतोष व क्षोभ को जन्म दिया | जनता ने इसका प्रतिरोध किया | इन प्रतिरोधों को हम 3 भागों में बाँट सकते है- नागरिक विद्रोह, आदिवासिक विद्रोह और किसान विद्रोह|
  2. 1857 का विद्रोह:- भारत में ब्रिटिश राज्य के तेज़ी से विस्तार के पश्चात भारतीय शासन प्रणाली में विभिन्न परिवर्तन हुए| इन परिवर्तनों ने भारतीय जीवन की परंपरागत शैली को झकझोर दिया तथा समाज में विभिन्न वर्गों एवं समुदायों के अंदर हलचल पैदा क्र दी | इसका अंतिम परिणाम 1857 का विद्रोह, के रूप में सामने आया, परन्तु यह कोई आकस्मिक घटना नहीं थी| इससे पूर्व भी छोटे-छोटे विद्रोह होते रहे थे|
  3. भारतीय स्वतंत्रता संग्राम(प्रथम चरण):- भारत के विशाल साम्राज्य को हथिया लेने के बाद इस पर नियंत्रण रखने और शासन चलने के लिए ईस्ट इंडिया कंपनी और बाद में अंग्रेजी सरकार को कई तरीके के हथकंडे इस्तेमाल करने पड़े | 200 वर्षो की इस लम्बी अवधि के दौरान अंग्रेज़ो की नीति अक्सर बदलती रही| फिर भी अंग्रेज़ो ने अपना मुख्या लक्ष्य कभी आखो से ओझल नहीं होने दिया |
  4. भारत में प्रतिनिधि सरकार:- 1858 के अधिनियम द्वारा केवल गृह सरकार में ही परिवर्तन हुए है| भारतीय प्रशासन में कोई भी परिवर्तन नहीं किये गए थे | इस बात की बोहत तीव्र भावना थी कि 1857 -58 में महँ संकट के पश्चात् भारतीय संविधान में महान परिवर्तनों कि आवश्यकता है| 1861 के पश्चात् अधिनियम के साथ ‘सहयोग कि निति’ का आरम्भ हुआ| भारतीयों को प्रशासन में भाग लेने का अधिकार दिया जाने लगा | 1861 के अधिनियम के काफी कारण थे|
  5. प्रथम विश्व युद्ध से गोलमेज़ सम्मलेन तक:- प्रथम विश्वयुद्द के प्रारम्भ होने पर ब्रिटिश सरकार ने भारत को भी युद्ध में शामिल क्र लिया| ब्रिटैन ने बिना भारतीयों कि अनुमति के भारतीय जनशक्ति तथा संसाधनों का युद्ध में व्यापक इस्तेमाल किया| इससे भारत पर राष्ट्रिय ऋण में ३०% कि बढ़ोतरी हो गई, जिससे भारतीय जनता को कष्टों में अपार वृद्धि हो गई| इन सबका भारतीय राष्ट्रिय आंदोलन पर बहुजमायी प्रभाव पड़ा|
  6. भारतीय शासन अधिनियम(1919):- 1858 में कंपनी कि सत्ता हस्तगत करने के बाद ब्रिटिश सरकार ने भारत में सहयोग कि निति का अनुसरण किया | इसे कार्य रूप देने के लिए 1861 , 1892 एवं 1909 के अधिनियम पारित किये गए| लेकिन यह नीति असफल सिद्धः हुई| अंत ब्रिटिश सरकार ने अपनी भारतीय निति में परिवर्तन लाया| यह महसूस किया गया है कि केवल भारतीयों से सहयोग लेना ही पर्याप्त नहीं होगा बल्कि भारत में क्रमशः उत्तरदायी शासन कि स्थापना भी कि जनि चाहिए|
Book Name: Modern History Notes PDF
Quality: Excellent
Format: PDF
Size: 3.01 MB
Pages: 170Page
Language: Hindi || हिन्दी





Click here to Download:- Modern History PDF

MyNotesAdda.com will update many more new pdf and study materials and exam updates, keep Visiting and share our post, So more people will get this.

The above PDF is only provided to you by MyNotesAdda.com we are not the makers of the PDF, if you like the PDF or if you have any kind of doubt, suggestion or query regarding the same, feel free to contact us at our Mail id- [email protected] or you can chat with us in the comment section given below.

You can also stay updated by joining us on:

  1. Facebook Page: https://www.facebook.com/mynotesadda/
  2. Facebook Group: https://www.facebook.com/groups/395366674215955/
the data-matched-content-ui-type="image_card_sidebyside">

Comments are closed.

error: Content is protected !!